ताज़ा खबर

चुनावी साल होने की वजह से नए टैक्स के संकेत नहीं- राज्य का बजट आठ फरवरी को,

रायपुर। छत्तीसगढ़ का बजट 8 फरवरी को मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पेश करेंगे। वित्त विभाग ने बजट प्रस्तावों को अंतिम रूप देना प्रारंभ कर दिया है। विधानसभा का बजट सत्र 5 फरवरी को प्रारंभ होगा और 6 फरवरी को सरकार चालू वित्तीय वर्ष का चौथा अनुपूरक बजट भी पेश कर सकती है।

आम जनता के लिए राहत की बात यह है कि चुनावी साल होने और कर संबंधी अधिकतर विषय जीएसटी में शामिल होने की वजह से राज्य में नए टैक्स लगने की संभावना कम है। सूत्रों ने बताया कि राज्य शासन के उच्च अधिकारियों ने बजट पर मुख्यमंत्री से मंत्रणा की है।

संकेत हैं कि चुनावी साल होने की वजह से हर वर्ग को ध्यान में रखकर सौगात और राहत का खाका खींचा जा रहा है। ज्ञात हो कि इससे पहले नगरीय निकाय विभाग ने सभी बड़े शहरों को निर्देश दिया है कि कोई नया कर नहीं लगा कर मौजूदा संसाधन से आय बढ़ाएं।

इसी तरह बिजली कंपनी ने नियामक आयोग को महज पांच पैसे प्रति यूनिट बढ़ोतरी का प्रस्ताव भेजा है। इससे साफ है कि सरकार इस बार पूरी तरह जनता को राहत देने के मूड में है।

रमन का 12वां बजट 

डॉ. रमन सिंह बतौर वित्त मंत्री इस बार अपना 12वां बजट पेश करेंगे। ऐसा करने वाले संभवत: वे देश के किसी राज्य के पहले वित्त मंत्री होंगे। डॉ. सिंह ने 2007 में पहला बजट प्रस्तुत किया था, उसके बाद से वे लगातार बजट पेश करते आ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *