ताज़ा खबर

कलेक्टर बनना नाम व फेम दे सकता है..पर उसे मैंटेन रखना कितना चुनौतीपूर्ण’….

 

रायपुर  …यूं तो आज का दिन उन सभी 27 ‘कलेक्टर’ के लिये खास और यादगार हैं…लेकिन रायपुर की शैडो कलेक्टर बनी श्रीकृति शायद ही अपने इस अनमोल पल को कभी भूल पाये। श्रीकृति की खुशकिस्मति ये है कि एक दिन के कलेक्टर बनने के साथ वो उस यूथ आईकॉन कलेक्टर के साथ आज पूरा वक्त गुजारेगी, जो युवाओं के लिए हमेशा प्रेरक रहे है। रायपुर कलेक्टर ओपी चौधरी श्रीकृति को सुबह के रूटिन से कलेक्टर की कार्यशैली श्रीकृति को दिखाना चाहते थे, सो सुबह 8.30 बजे ही उन्होंने श्रीकृति को नाश्ते के टेबल पर बुला लिया। साथ नाश्ता किया, फिर निर्माण कार्यों के इंस्पेक्शन पर ले गये…बताया कि योजनाओं के क्रियान्वयन और सदुपयोग कैसे और किस तरह से किया जाता है। जनहित की योजनाओं में किन बारीकियो ंका ख्याल रखना पड़ता है। श्रीकृति ने कहा कि ये उनके जीवन का अहम मोड़ है, जहां से वो प्रशासनिक की दक्षता को करीब से जान और समझ रही है। श्रीकृति ने कहा कि अच्छा अनुभव है, कुछ बेहतर करने की प्रेरणा और सीख भी मिल रही है, पूरा दिन आज सीखने को मिलेगा, कुछ रायपुर के डेवलपमेंट के लिए सुझाव देना चाहूंगी, खासकर एजुकेशन और इम्पावरमेंट के सेक्टर में, वाकई में मेरे जिंदगी का ये सबसे खुशकिस्मति का लम्हा है’ इधर कलेक्टर ओपी चौधरी ने शैडो कलेक्टर बनाने की सोच का स्वागत किया। कलेक्टर चौधरी ने कहा कि

‘कलेक्टर की लाइफ स्टाइल क्या होती है, उससे परिचित करना इसका मुख्य उद्देश्य है, इसलिए मैंने उन्हें सुबह ही घर पर बुलाया था, क्योंकि जो आफिस का वक्त होता है, कलेक्टर के लिए वहीं लाइफ नहीं होता है, सुबह 5 से 6 घंटे, शाम मैं 5 से 6 घंटे वर्किंग करनी होती है,…और मोबाइल आजकल अपने आप में आफिस है, टेक्नोलॉजी से कैसे काम करते हैं, वो बताया और आज कटोरा तालाब में पर्यावरण सरंक्षण मंडल के प्रोजेक्ट का विजिट कराया, शिफ्टिंग कैसे करायी गयी, पैसे का उपयोग कैसे हो, मैं आज आफिस की एक्टिविटी, कोर्ट की एक्टिविटी समझाने की भी कोशिश करूंगा’

जब कलेक्टर ओपी चौधरी से ये पूछा गया कि क्या एक दिन ये कुछ सीख पायेंगे, जो कलेक्टर चौधरी का जवाब बहुत शानदार रहा.. उन्होंने कहा कि

‘पूरी जिंदगी कम पड़ जाती है, सीखने के लिए, लेकिन मुख्यमंत्री की ये पहल वाकई में बेहद ही सरारणीय है’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *