ताज़ा खबर

क्राइम ब्रांच अधिकारी बनकर दो लाख रुपए लूट अरोपी गिरफ्तार….

रायपुर। साल के अंतिम दिन शाम के वक्त मौदहापारा थाना क्षेत्र में दो युवकों ने अपने आप को क्राइम ब्रांच का कर्मचारी बताकर जांच के बहाने ट्रांसपोर्ट कंपनी के सुपरवाइजर से दो लाख रुपए लूटकर फरार हो गए। पीड़ित ने घटना के तीसरे दिन थाने में रिपोर्ट लिखाई।

पुलिस ने पीड़ित द्वारा बताए गए हुलिए के आधार पर मेडिकल कॉम्प्लेक्स के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे को खंगाला तो दोनों लुटेरों के फुटेज मिल गए। इसके बाद दो घंटे के भीतर ही पुलिस ने दोनों को उनके घर से गिरफ्तार कर लिया।

युवकों के कब्जे से लूटे गए 1.70 लाख रुपए के साथ घटना में इस्तेमाल एक्टीवा बरामद की गई है। चर्चा है कि सरेराह हुई लूट की इस वारदात में शामिल एक युवक भाजपा नेता का रिश्तेदार है, लिहाजा पुलिस भी दबाव में आ गई और लूट के बजाय ठगी का केस दर्ज कर नरमी बरती।

जानकारी के मुताबिक गोकुलधाम दलदल सिवनी (मोवा) निवासी मोहनपुरी गोस्वामी (23) श्रीनिवास रोड लाइंस कंपनी में सुपरवाइजर है। 31 दिसम्बर की शाम 4.30 बजे कंपनी के मालिक अनुराग जैन ने कलेक्शन का पैसा 2 लाख रुपए मोहनपुरी गोस्वामी को देकर हेड ऑफिस बलौदाबाजार छोड़ने के लिए कहा था।

मोहनपुरी पैसे को पिट्ठू बैग में रखकर बाइक क्रमांक सीजी 04 एलएफ 9458 से बलौदाबाजार के लिए निकला। रजबंधा मैदान स्थित मेडिकल कॉम्प्लेक्स के पास वह जैसे ही पहुंचा, एक्टीवा क्रमांक सीजी 04 एलटी 1782 पर सवार अज्ञात दो युवकों ने उन्हें रोका।

उन्होंने अपने आप को क्राइम ब्रांच का कर्मचारी बताते हुए तलाशी लेने की बात कही। तलाशी में मिले 2 लाख रुपए को युवकों ने दो नंबर का पैसा होने की बात कहते हुए थाने चलने को कहा। मोहनपुरी ने डरकर थाना जाना से मना किया तो दोनों युवक पैसे लेकर यह कहते हुए चले गए कि जांच करके बताते हैं।

डरकर मालिक को नहीं दी जानकारी

सुपरवाइजर मोहनपुरी ने बताया कि लूट की घटना से वह इस कदर डर गया था कि उसने दो दिन तक मालिक से यह बात छिपाकर रखी। मंगलवार दोपहर में हिम्मत जुटाकर उसने अनुराग जैन को घटना की जानकारी दी। इसके बाद दोपहर तीन बजे मौदहापारा थाने में शिकायत दर्ज कराई।

ऐसे पकड़े गए लुटेरे

पुलिस ने घटनास्थल पर मिले लुटेरों के सीसीटीवी फुटेज के आधार पर उनकी शिनाख्ती कर केके रोड मौदहापारा निवासी मोहम्मद यूनुस खान (29) और मौदहापारा मस्जिद के सामने रहने वाले जाहिद खान (29) को गिरफ्तार किया। पूछताछ में दोनों ने लूटना कबूल कर लिया।

आरोपियों की निशानदेही पर घटना में इस्तेमाल एक्टीवा क्रमांक सीजी 04 एलटी 1782 और उनके घर में छिपा कर रखे गए 1 लाख 70 हजार रुपए जब्त किए। मामले में धारा 419, 420, 34 के तहत अपराध कायम कर दोनों को जेल भेज दिया गया। आरोपी यूनुस खान मारपीट के एक मामले में हाल ही में जेल गया था। जेल से छूटने के बाद उसने साथी के साथ मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *