ताज़ा खबर

गुंडों के कैद से छूटकर भागी, अब करेगी ऐसा काम…

इटावा : इटावा नगर पालिका चुनाव में अध्यक्ष पद पर निर्भय गुर्जर की पत्नी नीलम गुप्ता चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही हैं। नीलम ने निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर इटावा सदर सीट से चुनाव लड़ने की बात कही है। बता दें, नीलम दस्यु सुंदरी के तौर पर भी प्रख्यात हैं।
राजनीति में आकर लोगों को न्याय दिलाना है 
– नीलम ने एक प्रेस कांफ्रेंस में कहा- जिस उम्र में लड़कियों की उम्र खेलने की होती है, उस उम्र से ही मैंने शोषण झेलना शुरू कर दिया था। निर्भय गुर्जर ने मुझसे जबरदस्ती शादी की थी।
– मेरा अपहरण करवा कर निर्भय ने मुझसे शादी की, लेकिन जैसे ही मुझे मौका मिला मैं उसके गैंग से निकल भागी औऱ आत्मसमर्पण कर जेल चली गई।
– अब मैं जेल से बाहर हूं और मुझ पर लगे सभी मुकदमों में बरी कर दी गई हूं। लेकिन समाज के कुछ दबंग लोग मेरा जीना मुश्किल किए हैं। मेरे गांव के मकान पर भी उनका कब्जा है।
– औरैया प्रशासन से शिकायत करने के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। इस लिए अब मैं राजनीति में आकर समाज के उन लोगों की लड़ाई लड़ना चाह रही हूं जिन्हें अपने जीवन में न्याय की जरूरत है।
कई दलों ने टिकट देने की कही बात
– नगर निकाय चुनाव में निलम गुप्ता के चुनाव लड़ने की खबरों से दूसरे प्रत्याशी में खलबली मच गई है। कई प्रत्याशी परेशान भी हैं।
– कुछ दलों ने नीलम को अपने टिकट पर चुनाव लड़ने का इनविटेशन दिया है। लेकिन नीलम ने फिलहाल निर्दलीय ही चुनाव लड़ने का मन बनाया है।
निर्भय ने नीलम पर रखा था 21 लाख का इनाम
– 2001 में निर्भय 20 साल की नीलम गुप्ता को किडनैप कर गिरोह में लाया था। निर्भय ने नीलम से 26 जनवरी 2004 को शादी कर ली।
– शादी के महज 6 महीने बाद नीलम निर्भय के मुंहबोले बेटे श्याम जाटव के साथ भाग गई थी। दोनों अपने साथ 8 लाख रुपए, ज्वैलरी और हथियार लेकर भागे थे। नीलम अपने साथ गिरोह के सभी डकैतों के मोबाइल भी साथ ले गई थी।
– नीलम की इस हरकत से निर्भय गुर्जर आगबबूला हो गया था। उसने एलान किया था कि जो भी नीलम को जिंदा या मुर्दा पकड़कर लाएगा, उसे वो 21 लाख रुपए का इनाम देगा।
फिरौती नहीं मिलती तो कान काट देता था ये निर्भय
– 90 के दशक में चंबल घाटी के करीब 200 गांवों में दस्यु गैंग के निर्भय सिंह गुर्जर ने एक समानांतर सरकार बना रखी थी। उसके सिर पर सरकार ने 2.5 लाख रुपए का इनाम रखा था।
– इस खतरनाक डकैत का एनकाउंटर करने वाले IPS दलजीत सिंह चौधरी ने बताया था- “मैं 2005 में जब इटावा का एसपी बनकर पहुंचा तो वहां निर्भय गैंग का खौफ छाया हुआ था। 250 डकैतों का मुखिया निर्भय अपने शिकार का कभी कान काट देता था, तो कभी हाथ। उसके खौफ से लोग थर-थर कांपते थे।”
निर्भय के गिरोह की पहचान थीं महिला डकैत
– निर्भय गुर्जर के गिरोह की पहचान थी उसमें शामिल खूबसूरत महिला डकैत। दस्यु सुंदरियों में सीमा परिहार (बिग बॉस फेम), मुन्नी पांडे, पार्वती उर्फ चमको, सरला जाटव और नीलम काफी पॉपुलर रहीं।
– निर्भय लड़कियों का अपहरण करता था और बाद में उन्हें ट्रेनिंग देकर गिरोह में शामिल कर लेता था। उसने 4 लड़कियों से शादी भी की थी।
Source : web

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *