ताज़ा खबर

छात्राओं से छेड़छाड़ करने वाले जवानों तक ऐसे पहुची पुलिस…

राखी बंधवाने के दौरान छात्राओं से छेड़छाड़ मामले में CRPF की फौरी कार्रवाई़ वाकई में सराहनीय है। खासकर इस मामले को CRPF के IG डीएस चौहान ने बेहद ही गंभीरता से लिया। रक्षाबंधन के दिन सीआरपीएफ के आईजी डीएस चौहान को इस घटना की जानकारी
मिली थी। जिसके बात उन्होंने केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की उच्च स्तरीय अदालती जांच  दल गठित की। डीआईजी डी एन लाल  की अगुवाई में बनी टीम में सदस्य के रूप में 2 अधीनस्थ कमांडेंट, महिला प्रतिनिधी उषा किरण सहायक कामन्डेंट और  दो सह सदस्य के रूप में स्थानीय शिक्षिका द्रोपदी सिन्हा और यशोदा राणा को भी शामिल किया गया। इस मामले में आईजी चौहान ने खुद कलेक्टर और दंतेवाड़ा एसपी से भी बात की।
इस मामले में चौहान ने ही FIR दर्ज करने की बात कही और मजिस्ट्रेट जांच गठित करना भी सुझाया ।  इस जांच दल ने संबंधित छात्राओं को केम्प के संभावित जवानों के फोटो दिखाए गए जहाँ दो जवानों की पहचान की गयी। उक्त जांच दल की तरफ से प्राथमिकी पुष्टि के बाद दोनों जवानों को तत्काल निलम्बित कर दिया गया । इस मामले में आरोपी एक जवान शमीम अहमत की गिरफ्तारी हो चुकी हैजबकि दूसरे आरोपी नीरज की तलाश में पुलिस की टीम उत्तराखंड पहुंच रही है। सीआरपीएफ ने साफ किया है कि इस तरह के आचरण को सीआरपीएफ कभी बर्दाश्त नहीं करता है और सीआरपीएफ के पास बल के किसी भी सदस्य द्वारा इस तरह के कृत्यों के लिए शुन्य सहिष्णुता की नीति है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *